Silver Jubilee Year Celebration at Siriyari

शिक्षा के साथ संस्कार निर्माण जरूरी-चौधरी

जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय के रजत जयंती समारोह के सिरियारी चरण का आयोजन आचार्य भिक्षु समाधि स्थल पर समारोह पूर्वक आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मारवाड जक्शंन के विधायक केशाराम चौधरी ने कहा कि जैन समाज का प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय आज सम्पूर्ण विश्व में अपने पाठ्यक्रर्मो के लिए व्यापक पहचान रखता है। उन्होनें कहा कि शिक्षा के साथ संस्कारों का विकास बहुत जरूरी है। सही व मानवीय मूल्यों से प्रेरित शिक्षा ही व्यक्ति को सही राह दिखाने में सक्षम है। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता संस्थान की कुलपति समणी चारित्रप्रज्ञा ने जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय का परिचय देते हुए कहा कि यह देश का ऐसा अनूठा विश्वविद्यालय है जहां ज्ञान के साथ चरित्र निर्माण एवं मूल्य परक शिक्षा भी दी जाती है जिसकी आज समाज को आवश्यकता है। चारित्रप्रज्ञा ने शिक्षा को जीवन विकास का माध्यम बताते विश्वविद्यालय की विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य संयोजक जैन विश्वभारती के अध्यक्ष धर्मचन्द लंूकड ने की। इस अवसर पर आचार्य भिक्षु समाधि संस्थान अध्यक्ष मूलचन्द नाहर सहित अनेक लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम के बाद आचार्य भिक्षु संगीत संध्या व धम्म जागरण का भव्य आयोजन हुआ। जिसमें देश भर से हजारों लोगों ने भाग लिया।

Read 1469 times

Latest from