Silver Jubilee Year Celebration at Gangasahar

शिक्षा के साथ मूल्यों का विकास जरूरी- मेघवाल

गंगाशहर। जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय के रजत जयंती समारोह के गंगाशहर चरण का आयोजन आचार्य तुलसी शांति प्रतिष्ठान में आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बीकानेर सांसद अर्जून मेघवाल ने कहा कि नैतिकता की प्रतिष्ठा के लिए जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय का कार्य प्रभावी है। उन्होनें शिक्षा के साथ मूल्यों को जरूरी बताते हुए कहा कि मूल्यों के विकास के लिए यह विश्वविद्यालय समर्पित भाव से कार्य कर रहा है। मेघवाल ने इस अवसर पर विश्वविद्यालय द्वारा दी जा रही शिक्षा को जन जन तक पहुचानें का आह्वान किया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता संस्थान की कुलपति समणी चारित्रप्रज्ञा ने कहा कि जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय देश का ऐसा अनूठा विश्वविद्यालय है जहां ज्ञान के साथ चरित्र निर्माण एवं मूल्य परक शिक्षा भी दी जाती है जिसकी आज समाज को आवश्यकता है। कुलपति ने विश्वविद्यालय की विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर निगम बीकानेर के महापौर नारायण चौपडा ने आचार्य तुलसी के महान अवदान विश्वविद्यालय को यूनिक बताया। इस अवसर पर वरिष्ठ समाजसेवी मूलचन्द नाहर, सम्पतमल नाहटा, माणकचन्द सुराणा, शिवरतन अग्रवाल, इन्द्रचन्द सुराणा, विजयकुमार कोचर, सुरपत बोथरा, शुभकरण श्यामसुखा, नवरतन डागा सहित अनेक लोग उपस्थित थे। जैन विश्वभारती के अध्यक्ष एवं समारोह के मुख्य संयोजक धर्मचन्द लूंकड ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संयोजन जैन लूणकरण छाजेड ने किया। इस अवसर पर आचार्य तुलसी शांति प्रतिष्ठाान के अध्यक्ष अनूपचन्द बोथरा का उल्लेखनीय सहयोग रहा। कार्यक्रम के बाद आचार्य तुलसी संगीत संध्या का आयोजन किया गया।

Read 863 times

Latest from joomlasupport