Silver Jubilee Year Celebration at Delhi

जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय संस्कारों के साथ मूल्यपरक शिक्षा के विकास के लिए उपयोगी - प्रो वेदप्रकाश

दिल्ली। जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय के रजत जयंती वर्ष समारोह के अन्तर्गत दिल्ली चरण समारोह का आयोजन रविवार को यमुना स्पोट्र्स कांप्लेक्ष दिल्ली में समारोह पूर्वक मनाया गया। समारोह के मुख्य अतिथि केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मंत्री हर्षवद्र्वन जैन ने विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रर्मों को मूल्यपरक शिक्षा के विकास के लिए उपयोगी बताया। कार्यक्रम में उपस्थित विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के चैयरमैन प्रो वेदप्रकाश ने कहा कि जैन विश्वभारती ने शिक्षा के क्षेत्र में कई सार्थक कदम उठाये है। खाशतौर पर मूल्यवद्र्वक शिक्षा व भौतिकता से परे जीवन जीने की कला को लेकर संस्थान द्वारा कई योजनाओं पर काम जारी है।

जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय की कुलपति समणी चारित्रप्रज्ञा ने कहा कि राजस्थान के लाडनूं में स्थित यह विश्वविद्यालय अपना 25 वां स्थापना वर्ष मना रहा है। यह विश्वविद्यालय देश का ऐसा अनूठा विश्वविद्यालय है जहां पिछले 25 वर्षो से संस्कारों के साथ मूल्यपरक विद्या का ज्ञान दिया जाता है। उन्होनें कहा कि एजुकेशन सिस्टम में आई क्यू की बात तो की जाती है लेकिन इमोशनल क्यू की बात नहीं होती है। विद्या के साथ विवेक का होना भी जरूरी है। सभी लोग केवल समाज से लेने की बात करते है, लेकिन समाज को देने की बात नहीं करते। शिक्षा के इसी अधूरेपन को दूर करने का काम हमारी संस्था करती है। यहां नॉन वायलेंस एंड पीस योग पुरातन विद्या मैडिटेशन आदि कोर्स के द्वारा मूल्यपरक विद्या का ज्ञान दिया जाता है।

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाहक डॉ कृष्णगोपाल, रजत जयंती समारोह के मुख्य संयोजक डॉ धर्मचन्द लूकड, दिल्ली चरण के संयोजक सुखराज सेठिया सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

Read 850 times

Latest from joomlasupport