Short Story Writing Competition-2016

स्वरचित लघुकथा लेखन प्रतियोगिता-2016

प्रिय विद्यार्थियों,

आप संस्थान के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के सत्र 2015-16 के सम्मानित विद्यार्थी हैं। आप अपनी-अपनी कक्षा एवं विषय के अनुसार भेजी गयी पाठ्यसामग्री का अध्ययन मनोयोगपूर्वक कर रहे होंगे और भेजे गये सत्रीय कार्यों को भी हलकर भेज रहे होंगे। सत्रीय कार्य के हल भेजने आवश्यक हैं। इस बार से सभी कक्षाओं के लिए एक ही सत्रीय कार्य है। संस्थान की वेबसाइट (www.jvbi.ac.in) के डिस्टेन्स एडूकेशन में स्टडी मटेरियल के अन्तर्गत निहित रिकार्डेड लेक्चर आपके अध्ययन में उपयोगी होंगे।

आप दूर रहकर भी हमारे निकट हैं। जिस प्रकार नियमित (रेगुलर) अध्ययन करने वाले विद्यार्थी अध्ययन के साथ-साथ सांस्कृतिक एवं सृजनात्मक गतिविधियों से जुड़े रहते हैं उसी प्रकार आप जैसे पत्राचार के विद्यार्थियों को सांस्कृतिक गतिविधियों से जोड़ने हेतु निदेशालय द्वारा एक स्वरचित लघुकथा लेखन प्रतियोगिता-2016 का आयोजन किया जा रहा है। उपर्युक्त विषय में आपको अधिकतम 200 शब्दों में एक लघुकथा लिखना है। लघुकथा फुलस्केप कागज पर एक तरफ हासिया छोड़कर सुपाठ्य लिपि में लिखा होना चाहिए। लघुकथा के अन्त में पंजीयन संख्या, कक्षा सहित पूरा पता दूरभाष सहित लिखा होना चाहिए। हिन्दी या अंग्रेजी भाषा में स्वरचित लघुकथा ही स्वीकार किया जायेगी। लघुकथा 30 जून, 2016 तक निदेशक, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय, जैन विश्वभारती संस्थान, लाडनूं-341306 (राज.) कार्यालय को प्राप्त हो जाने चाहिए। प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 2100/-, द्वितीय पुरस्कार 1500/-, तृतीय पुरस्कार 1100/- तथा दो प्रोत्साहन पुरस्कार पांच सौ-पांच सौ के होंगे। पुरस्कार संस्थान में आयोजित किसी समारोह में दिये जायेंगे, जिसकी सूचना यथासमय दी जायेगी।

अतः उपर्युक्त जानकारी के अनुसार लघुकथा लिखकर 30 जून, 2016 तक अवश्य भेजें। हस्तलिखित स्वरचित लघुकथा ही स्वीकार किये जायेगें। टंकित या कम्प्यूटराइज्ड प्रति स्वीकार नहीं की जायेगी। इस प्रतियोगिता में इस सत्र (2015-16) के पत्राचार के सभी विद्यार्थी भाग ले सकते हैं।

(प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी)
निदेशक, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय

Read 1215 times

Latest from