अहिंसा एवं शांति विभाग द्वारा मानव अधिकार दिवस का आयोजन

लाडनूँ, 10 दिसम्बर, 2016। जैन विश्वभारती संस्थान के अहिंसा एवं शांति विभाग द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अहिंसा एवं शांति विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ रविन्द्र सिंह राठौड़ ने सभी प्रतिभागियों का अभिनन्दन किया तथा मानव अधिकारों की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर प्राच्य विद्या एवं भाषा विभाग के प्रो. दामोदर शास्त्री ने वैदिक व पौराणिक युग में मानव अधिकारों पर प्रकाश डाला तथा अधिकारों के साथ कत्र्तव्य-पालन पर विशेष जोर देने की बात कही। इस उपलक्ष पर समाजकार्य विभाग की सहायक आचार्य डाॅ. पुष्पा मिश्रा ने महिला अधिकारों के संरक्षण को ध्यान में रखकर विश्व-पटल पर होने वाली घटनाओं पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर योग एवं जीवन-विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. प्रद्युम्नसिंह शेखावत ने वर्तमान में मानव अधिकारों के लिए किए जाने वाले प्रयासों के बारे में जानकारी दी। दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि मानव अधिकार मनुष्य को केन्द्र में रखकर बनाये गये हैं। उन्होंने मानव अधिकारों के हनन एवं जैन दर्शन के परस्परग्रहो जीवानाम् के सिद्धान्त पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर संस्थान के कुलसचिव विनोद कुमार कक्कड़ ने विश्वस्तर पर होने वाली हिंसा को कैसे रोका जाए तथा मानव अधिकारों के संरक्षण के प्रति जागरूकता कैसे लायी जाए, इस बात पर प्रकाश डाला। उन्हांेने कहा कि कानून का पालन कैसे हो, इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

इस अवसर पर शिक्षा विभाग के अध्यक्ष प्रो. बी.एल. जैन ने मानव अधिकारों को हर समय याद रखने की बात कही। कार्यक्रम का संचालन एवं आभार-ज्ञापन सहायक आचार्य डाॅ. विकास शर्मा ने किया।

Read 789 times

Latest from