दूरस्थ शिक्षा में प्रवेश की तिथि 21 जनवरी तक बढ़ाई

लाडनूँ, 01 जनवरी, 2017। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के अन्तर्गत पत्राचार के माध्यम से एम.ए. और बी.ए. के लिये आवेदन करने के लिये आखिरी तिथि 31 दिसम्बर को बढ़ाकर 21 जनवरी कर दी गई है। बड़ी संख्या में विद्यार्थियों की तरफ से प्रवेश की तिथि बढ़ाने की मांग को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह निर्णय लिया। दूरस्थ शिक्षा के निदेशक प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि संस्थान के अन्तर्गत संचालित दूरस्थ शिक्षा के तहत एम.ए. में हिन्दी, अंग्रेजी व शिक्षा विषयों के अलावा जैन विद्या एवं तुलनात्मक धर्म व दर्शन तथा एम.ए. व एम.एस-सी. योग व जीवन-विज्ञान विषय उपलब्ध हैं। त्रिवर्षीय बी.ए. एवं बी.काॅम. पाठ्यक्रम के अलावा यहाँ बैचलर प्रिप्रेटरी प्रोग्राम (बीपीपी) की सुविधा भी उपलब्ध है, जिसमें बिना कोई पूर्व अध्ययन किये एवं बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण किये बिना भी इस योग्यता परीक्षा को उत्तीर्ण करके सीधे बी.ए. में प्रवेश प्राप्त किया जर सकता है। संस्थान में अहिंसा प्रशिक्षण, अण्डरस्टेंडिंग रिलीजन, ह्यूमन राइट्स, जैन रीलिजन एण्ड एस्थेटिक्स, जैन धर्म व दर्शन एवं प्राकृत विषयों के तहत प्रमाण-पत्र पाठ्यक्रम भी उपलब्ध हैं, जिनमें कोई भी 10वीं परीक्षा या बीपीपी उत्तीर्ण विद्यार्थी प्रवेश ले सकता है। प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि इन सभी पाठयक्रमों में प्रवेश के लिये अन्तिम तिथि 21 जनवरी कर दी गई है।

Read 1055 times

Latest from