Print this page

आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में नवागन्तुक छात्राओं का स्वागत

अपनी क्षमताओं को पहचानें विद्यार्थी - प्रो. दूगड़

लाडनूँ, 11 अगस्त, 2018। जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय के महाप्रज्ञ-महाश्रमण आॅडिटोरियम में आयोजित आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय की नवागन्तुक छात्राओं के स्वागत समारोह को सम्बोधित करते हुये मुख्य अतिथि कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ ने कहा है कि सभी विद्यार्थियों में क्षमता एवं योग्यता है। सभी उन्मुक्त होकर अपना विकास कर सकें, इसके लिये इस विश्वविद्यालय में समस्त आवश्यक संसाधन उपलब्ध हैं। उनका उपयोग करके अपनी क्षमताओं को बढावें। विद्यार्थियों की क्षमताओं को आगे बढ़ाने का दायित्व यहां के शिक्षकों का है। विद्यार्थियों को अपनी क्षमताओं को जानना जरूरी है और वे इन्हें कम करके भी आकलन नहीं करें, बल्कि यह आत्मविश्वास रखें कि आप सब कर सकते हैं। भय का सामना करने से भय दूर होता है। भय से कतरा कर निकलने से भय हावी हो जाता है। अपने जीवन को आप स्वयं परिभाषित करें और आगे बढें। अगर आपकी सोच अच्छी है तो परिणाम भी अच्छा आयेगा और अगर नकारात्मक सोच हुई तो परिणाम भी गलत निकलेगा। आपका भविष्य स्वयं आपके हाथ में है। विद्यार्थियों की क्षमताओं को पहचान कर उन्हें उभारने का काम इस संस्थान में किया जाता है। इसके लिये यहां के शिक्षक पूरा प्रयत्न करते हैं तथा विविध गतिविधियों द्वारा इसका प्रयास किया जाता है। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में जो क्लब गठित किये गये हैं, वे विद्यार्थियों की क्षमताओं को बढाने के लिये ही हैं। इन क्लबों से अपनी रूचि के अनुसार जुड़कर इनके माध्यम से विविध आयोजन करें, जिनमें महाविद्यालय की छात्राओं के अतिरिक्त अन्य स्थानीय छात्राएँ भी भाग ले सकें। उन्होंने घोषणा की कि प्रत्येक क्लब को ऐसे आयोजन के लिये विश्वविद्यालय की ओर से 25-25 हजार रुपये की सहयोग राशि प्रदान की जायेगी। इसके लिए चार क्लबों को प्रारम्भिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके अलावा क्लबों के लिये आवश्यक इंस्ट्रक्टर रखने के लिये भी पूरा प्रयास किया जा रहा है।

आराम के जीवन का त्याग करें

विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार श्री वी.के. कक्कड़ ने अपने सम्बोधन में छात्राओं को सफलता के लिये टिप्स दिये। उन्होंने कहा कि छात्र-जीवन में आराम के जीवन का त्याग करना आवश्यक है तथा अपने लक्ष्य को तय करके संकल्प पूर्वक उसकी पूर्ति में लगे रहें। अपने मित्रों की मण्डली ऐसी बनायें, जो आपके लिये प्रेरक व मार्गदर्शक सिद्ध हो सके। आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्दप्रकाश त्रिपाठी ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुये कहा कि विश्वविद्यालय के अनुशास्ताओं के सपने के अनुरूप यहां के विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। इसी के अन्तर्गत महाप्रज्ञ क्लब, महाश्रमण क्लब, अपर्णा सेन क्लब, सोनल मानसिंह क्लब आदि का गठन किया गया है। इनमें विद्यार्थी अपनी लेखन क्षमता, वक्तृत्व क्षमता, नृत्य क्षमता, खेल क्षमता आदि का विकास संभव हो पायेगा। उन्होंने कहा कि इसके लिये गुरूवार का पूरा दिन निर्धारित किया गया है। छात्राएँ क्लबों की गतिविधियों, पुस्तकालय आदि में अपना समय देकर अपनी क्षमताओं को बढा सकेंगी।

विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम व प्रतियोगिताएँ आयोजित

समारोह में स्नातक के द्वितीय वर्ष व तृतीय वर्ष की छात्राओं ने प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाली छात्राओं का स्वागत किया। नवागन्तुक छात्राओं ने अपना परिचय प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में हेमलता एण्ड ग्रुप ने गणेश वंदना प्रस्तुत की। रेणु ने स्वागत गीत एवं करिश्मा ने स्वागत वक्तव्य प्रस्तु किये। अतिथियों का स्वागत छात्रा दिव्या प्रजापत, अंकिता प्रजापत, पुष्पा कंवर व ज्योति भोजक ने किया। कीमती शर्मा, अंकिता एंड ग्रुप, किरण व कुलसुम, आशा व कंचन आदि ने राजस्थानी, पंजाबी व अन्य नृत्य प्रस्तुत किये। आयोजित प्रतियोगिताओं में मिश फ्रेशर के रूप में खुशनुमा खान को चुना गया तथा मिस ब्यूटी के रूप में तसलीमा का चयन किया गया। बैलून डांस में महिमा प्रजापत व निष्ठा सोनी, जलेबी प्रतियोगिता में सानिया छींपा, फिल्मी बजर राउण्ड में खुशनुमा खान विजेता रही। मुमुक्षु बहिनों ने बैलून प्रतियोगिता व टोपी प्रतियोगिता रखी, जिसमें दीक्षा व मुमुक्षु रिया विजेता रही। कार्यक्रम का संचालन हेमलता शर्मा, दीपिका राजपुरोहित व दीप्ति दूगड़ ने किया।

Read 2926 times

Latest from