Print this page

उच्च शिक्षा व केरियर निर्माण जागरूकता अभियान के तहत आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय द्वारा पहल

आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय द्वारा पहल

लाडनूँ 6 दिसम्बर 2018। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय द्वारा युवावर्ग को सही दिशा प्रदान करने के लिये पहल करते हुये अपने केरियर निर्माण एवं उच्च शिक्षा परामर्श कार्यक्रम के तहत क्षेत्र के विभिन्न विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को केरियर निर्माण के विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी दी गई और उन्हें उनके अध्ययन के अनुकूल परामर्श प्रदान किया गया तथा उच्च शिक्षा प्राप्त करने के सम्बंध में भी उनका मार्गदर्शन किया गया। यहां के राजकीय भूतोड़िया बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, राजकीय केशरदेवी सेठी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, लाड मनोहर बालनिकेतन उच्च माध्यमिक विद्यालय, विमल विद्या विहार उच्च माध्यमिक विद्यालय, संस्कार उच्च माध्यमिक विद्यालय, आदर्श विद्या मंदिर उच्च माध्यमिक विद्यालय, कनकश्याम उच्च माध्यमिक विद्यालय, सेंट जेवियर्स पब्लिक स्कूल, सुभाष बोस शिक्षण संस्थान, सत्यम उच्च मा. विद्यालय, सैनिक वेलफेयर स्कूल, मौलाना आजाद स्कूल, मदनलाल भंवरीदेवी आर्य मेमोरियल स्कूल, दयानन्द सरस्वती स्कूल, निम्बी जोधां के नवभारत स्कूल, आदर्श विद्या मंदिर स्कूल, नवीन विद्यापीठ स्कूल, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय व स्वामी विवेकानन्द राजकीय माॅडल स्कूल में डाॅ. प्रगति भटनागर, सोनिका जैन, डाॅ. बलवीर चारण, डाॅ. रत्ना चैधरी, दिव्या राठौड़, अभिषेक चारण व सोमवीर सांगवान ने अलग-अलग विद्यालयों का जिम्मा लेकर कैरियर निर्माण एवं उच्च शिक्षा जागरूकता के कार्यक्रमों का आयोजन किया तथ विद्यार्थियों में उच्च शिक्षा के प्रति एवं केरियर के सम्बंध में जानकारी प्रदान की गई।

बैठक आयोजित कर दिये निर्देश

इससे पूर्व प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने अपने आचार्यगणों की एक बैठक का आयोजन करके युवा वर्ग में उच्च शिक्षा व केरियर के प्रति जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता बताई तथा इसके लिये क्षेत्र में एक अभियान चलाया जाकर विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करने के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया। प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय निरन्तर विद्यार्थी जागरूकता की दिशा में कार्य कर रहा है। इसके तहत समय-समय पर विभिन्न विषयों पर व्याख्यान आयोजित करने, अनेक प्रकार की सांस्कृतिक-साहित्यिक व खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन करने, घुड़सवारी प्रशिक्षण प्रदान करने, युवा महोत्सव व मेलों का आयोजन करने, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये ज्ञान केन्द्र का संचालन करने, ज्ञान व कौशल वृद्धि के लिये विविध क्लबों का संचालन करने आदि कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहता है।

Read 2701 times

Latest from