Print this page

जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत पांच दिवसीय ऑनलाईन एफडीपी कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञों के वक्तव्य प्रस्तुत

इंटरनेट से डाउनलोड करें तो काॅपीराइट कानूनों का पालन जरूरी- डाॅ. सोनी

लाडनूँ, 5 जून 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत चल रहे ऑनलाईन पांच दिवसीय एफडीपी कार्यक्रम में श्री अग्रसेन स्नातकोत्तर शिक्षा महाविद्यालय जामड़ोली के आईटी प्रभारी डाॅ. उमेश सोनी ने अपने वक्तव्य में काॅपीराइट कानूनों का पालन करना आवश्यक बताते हुये कहा कि हम इंटरनेट से विषयसामग्री, चित्र, वीडियो आदि डाउनलोड कर रहे हैं और उसका उपयोग अपने अध्ययन में करते हैं, लेकिन साथ ही इसकी जानकारी भी होनी आवश्यक है कि वह सामग्री काॅपीराइट के अधीन आती है या नहीं। उन्होंने काॅपीराइट सामग्री की पहचान और उसके उपयोग के लिये अनुमति प्राप्त करने के तरीके आदि के बारे में बताया तथा इस सम्बंध में जागरूक रहने की आवश्यकता बताई। उन्होंने यूट्यूब पर अपनी विषय सामग्री का प्रसारण कब और कहां करने की जानकारी भी दी। उन्होंने काॅपीराइट के सूक्ष्म प्रतीकों को ऑनलाईन प्रदर्शित किया और काॅपीराइट के विभिन्न नियमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

शिक्षण में गूगल क्लासरूम की उपयोगिता

जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के आईटी विशेषज्ञ मोहन सियोल ने गूगल क्लासरूम के अनुप्रयोग के बारे में बताया और ऑनलाईन क्लासरूम को प्रेक्टिल रूप से प्रस्तुत किया। उन्होंने गूगल क्लासरूम एप को डाउनलोड करने से लेकर क्लासरूम बनाने, सेक्शन बनाने, उसमें एसाइनमेंट देने, प्रश्न देने व उन सभी की जांच करने आदि के बारे में विस्तार से सरल भाषा में समझाया और गूगल क्लासरूम में विद्यार्थियों को विषय सामग्री शेयर करने, स्टडी मैटेरियल निर्मित करने, गूगल क्लासरूम में विषय सामग्री संरक्षित करने एवं उसमें सुधार व परिवर्तन करने आदि का पूरा विवरण प्रस्तुत किया। सियोल ने गूगल क्लासरूम में शिक्षण व शिक्षणेत्तर क्रियायें, पाठ्यसहगामी क्रियायें आदि में अनुप्रयोग करने की विधियां भी बताई। उन्होंने गूगल ड्राइव में फाईलें, नोट्स, असाइनमेंट संरक्षण आदि की जानकारी भी दी। साथ ही शाॅर्ट यूआरएल, गूगल फाॅर्म के क्विज, प्रश्नपत्र, मूल्यांकन आदि के बारे में भी बताया। उन्होंने आपदाओं, विपति के समय और महामारी के दौरान ऑनलाईन कक्षाओं को उपयोगी बताया। कार्यक्रम के संयोजक शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने वक्ताओं का परिचय प्रस्तुत किया और पांच दिवसीय एफडीपी कार्यक्रम के विभिन्न विषयों और उपयोगिता के बारे में बताया। उन्होंने अंत में आभार ज्ञापित किया।

ऑनलाईन क्लासेज में श्रेष्ठ प्रस्तुतिकरण के लिये सावधानियां जरूरी- शालिनी

6 जून 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत चल रहे ऑनलाईन पांच दिवसीय एफडीपी कार्यक्रम में चतुर्थ दिवस सुबोध पब्लिक स्कूल की आईटी विशेषज्ञ शालिनी जैन ने कहा कि ऑनलाईन क्लास में गुणवता, जागरूकता, सुरक्षा आदि का विशेष ध्यान रखना आवश्यक होता है। ऑनलाईन क्लासेज के सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्राकर के प्रभाव पड़ते हैं। अनुशासन, निगरानी, प्रश्नोतर वीडियो, चित्र आदि से ऑनलाईन क्लास संचालित की जाती है, तो वह विद्यार्थियों पर सकारात्मक प्रभाव डालती है। इनमें सुरक्षा की दृष्टि से सावधानियों की जरूरत है, जिनमें क्लास लेने से पूर्व विद्यार्थी अपना आईकार्ड डाले, क्लास में पांच मिनट पूर्व प्रवेश दिया जावे और लेट आने पर प्रवेश नहीं दिया जावे, शेयर स्क्रीन का कार्य होस्ट करे, पार्टीसिपेंट में उपस्थित विद्यार्थियों का स्क्रीन-शाॅट लें, चैट का उपयेाग क्लास के समय में केवल शिक्षक व विद्यार्थी ही करें, ऑनलाईन क्लास में शिक्षक व विद्यार्थी दोंनों ही वीडियो ऑन रखें, शिक्षक वीडियो ऑन करे फेस टू फेस क्लास की भांति हाव-भाव से पढायें तथा प्रत्येक क्लास से पूर्व योग या अन्य गतिविधि दो मिनट की अवश्य करवायें, ताकि छात्र का रूझान क्लास में बढ सके। शिक्षक तैयारी, तथ्य, व्यावहारिक व गुणवतापूर्ण तरीके से शिक्षण कार्य करवायें ताकि क्लास के समय विद्यार्थी अपना मोबाईल चालू करके खाने-पीने, नहाने-धोने या इधर-उघर घूमने में समय व्यतीत नहीं करें। उन्होंने इस वेबिनार में फिल्मोरा साॅफ्टवेयर द्वारा गुणवतापूर्ण वीडियो बनाना, वीडियो का शीर्षक या टाईटल बनाना, वीडियो के रंगों का संयोजन, वीडियो में विषय सामग्री व चित्रों का प्रदर्शन व प्रस्तुतिकरण आदि की प्रभावी जानकारी रोचक ढंग से प्रदान की तथा श्रेष्ठ वीडियो निर्माण, ऑनलाईन क्लास, विविध मोाबईल एप्स आदि की जानकारी सचित्र रूप् से ऑनलाईन प्रस्तुत की। शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने प्रारम्भ में विषय प्रस्तोता का परिचय करवाया और अंत में आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन मोहन सियोल व पंकज भटनागर ने किया।

Read 1475 times

Latest from