एक दिवसीय युवा व अहिंसा प्रशिक्षण शिविर आयोजित

विद्यार्थियों ने सीखे योग एवं अहिंसक रहने के प्रभावशाली उपाय

लाडनूँ, 23 जनवरी 2023। ‘अहिंसा एवं शांति की संस्कृति’ विषय पर एक दिवसीय युवा अहिंसा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन यहां जैन विश्वभारती संस्थान के अहिंसा एवं शांति विभाग के तत्वावधान में किया गया। शिविर में स्थानीय आदर्श विद्या मंदिर के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। शिविर में आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में सभी विद्यार्थियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। योग प्रशिक्षक दशरथ सिंह द्वारा उन्हें योग के विभिन्न आसनों के अभ्यास करवाए। तीन सत्रों में विभागजित इस शिविर के उद्घाटन सत्र में एनिमेटेड वीडियो के माध्यम से बच्चों को दूसरों का सहयोग एवं परस्पर सहभागिता के लिए हमेशा प्रयासरत रहने का संदेश दिया गया। सत्र की अध्यक्षता करते हुए विभागाध्यक्ष डॉ. रविंद्र सिंह राठौड़ ने वर्तमान परिदृश्य में अहिंसा एवं शांति की नीति को व्यक्तिगत स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक उपयोगी बताते हुए शिविर के महत्व व आवश्यकताओं के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि वर्तमान में उभर रही है समस्त समस्याओं का समाधान अहिंसक नीतियों से किया जाना सहजता पूर्वक संभव है। छात्रा खुशी जोधा ने संस्थान के विभिन्न पाठ्यक्रम एवं विशिष्ट विशेषताओं का पीपीटी के माध्यम से प्रदर्शन कर विद्यार्थियों को जानकारी प्रदान की। सहायक आचार्या डॉ. लिपि जैन ने प्रारम्भ में स्वागत वक्तव्य के दौरान शिविर के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। शिविर के दूसरे सत्र में विभाग के विद्यार्थियों सिमरन, हरुनिशा, निशा, कल्पना, दिपांशी, ज्योति, जयश्री जांगिड़, लीलाधर, धीरज आदि ने उत्साहवर्धनक एवं सामाजिकता के विकास सम्बंधी प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम व नुक्कड़-नाटक प्रस्तुत किए। इस अवसर पर विद्यालय की शिक्षिका चित्रा प्रजापत ने संस्थान द्वारा आयोजित अहिंसा प्रशिक्षण शिविर आदि कार्यक्रमों को लाभदायक बताते हुए कहा कि इनसे विद्यार्थियों में नैतिक एवं मानवीय गुणों का विकास होता है। कार्यक्रम का संयोजन सहायक आचार्य डाॅ. बलबीर सिंह ने किया।

Read 317 times

Latest from