जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में साइबर सिक्योरिटी में बैंकिंग फ्रॉड से बचाव पर कार्यशाला आयोजित

फर्जी वेबसाइटों के चककर में आने से बचें- गुरूमुख सिंह

लाडनूँ, 19 अक्टूबर 2021 । विश्वविद्यालय अनुदान आयोग तथा भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के निर्देशानुसार जैन विश्वभारती संस्थान में कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ के मार्गदर्शन व निर्देशन में साइबर सिक्योरिटी की प्रवृत्ति को बढ़ावा देने के लिए आयोजित कार्यक्रमों की श्रंृखला में मंगलवार को बैंकिंग फ्रॉड से बचने के संदर्भ में वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस वर्कशॉप में मुख्य वक्ता पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक गुरुमुख सिंह ने बताया कि बदलते तकनीकी युग में बैंकिंग सुविधाओं का ऑनलाइन प्रयोग करते हुए हम अज्ञानतावश फर्जी वेबसाइटों के चंगुल में आकर आर्थिक नुकसान के शिकार बन जाते हैं। उन्होंने बताया कि कुछ सावधानियां रखने पर ऐसे नुकसानों से बचा जा सकता है। इसके लिए हमें फर्जी तथा असली वेबसाइट्स की पहचान करने के उपरांत ही उस वेबसाइट का प्रयोग करना चाहिए और बैंकिंग व्यवस्था संबंधी किसी भी प्रकार की गोपनीय जानकारी अनजान कॉल करने वालों को प्रदान नहीं करनी चाहिए। कार्यक्रम में दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक व आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य कार्यक्रम प्रभारी प्रो. आनंद प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि अज्ञानतावश एवं लापरवाही के कारण हम कई बार इस प्रकार की प्रवृत्तियों के शिकार हो जाते हैं, अतः हमें जागरुक एवं सचेत रहने की आवश्यकता है। कार्यक्रम की शुरुआत संस्थान की प्रार्थना से से की गई। इसके पश्चात शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष तथा कार्यक्रम प्रभारी प्रो. बीएल जैन ने स्वागत वक्तव्य प्रस्तुत किया। अंत में आयोजक समिति के सदस्य डॉ. गिरधारी लाल शर्मा ने सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया। समिति के सदस्य डॉ. बलबीर सिंह ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम में संस्थान के अनेक संकाय सदस्य तथा विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Read 368 times

Latest from