जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में व्याख्यानमाला आयोजित

दलित समाज में जागृति की ज्वाला लेकर आये बाबू जगजीवन राम

लाडनूँ, 4 अप्रेल 2019। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में प्राचार्य प्रो. आनन्दप्रकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में मासिक व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया। इस बार ‘‘अनुसुचित जाति समुदाय के सशक्तिकरण में बाबू जगजीवन राम का योगदान’’ विषय पर वाणिज्य संकाय की व्याख्याता अपूर्वा घोड़ावत द्वारा व्याख्यान प्रस्तुत किया गया। घोड़ावत ने अपने व्याख्यान में बताया कि पांच दशक तक सक्रिय राजनीति में बाबू जगजीवनराम जी ने अपना पूर्ण जीवन देश की सेवा व दलितों के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया। उनके प्रयासों के कारण ही दलितों को आरक्षण मिला, शिक्षा और नौकरी मिली तथा बराबरी वाले समाज में बराबर उठने-बैठने की महत्ता मिली। बाबूजी दलित समाज की एक ऐसी चिन्गारी के रूप में उभरे जिसमें समूचे दलित समाज में जागृति की ज्वाला जगा दी और दलित समाज को पंक से निकाल कर प्रतिष्ठा तक पहुंचा दिया। इस व्याख्यानमाला में महाविद्यालय के व्याख्याता डाॅ. प्रगति भटनागर, कमल कुमार मोदी, अभिषेक चारण, रत्ना चैधरी, बलबीर सिंह चारण, सोनिका जैन, योगेश टाक आदि उपस्थित रहे। व्याख्यानमाला का संचालन सोमवीर सांगवान द्वारा किया गया।

Read 149 times

Latest from