अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन

समानता के दौर में लिंगभेद अनुचित- प्रो. त्रिपाठी

लाडनूँ, 08 मार्च 2022। ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अन्तर्गत जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय एवं राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) की दोनों इकाइयों के संयुक्त तत्वावधान में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने महिला दिवस मनाए जाने के पीछे की कहानी के बारे में बताया तथा कहा कि समानता के दौर में किसी भी तरह से लिंगभेद रखा जाना अनुचित है। महिला हो या पुरूष उन्हें समान काम के लिए समान वेतन दिया जाना आवश्यक है। उन्होंने महिला को दिमाग के बजाए दिल से सोचने के कारण अधिक संवेदनशील होने और अपने प्रत्येक कार्य को पूरे मनोयोग से करने के कारण पुरूषों से आगे निकल पाने में सक्षम बताया। उन्होंने कर्मण्यता और जुझारूपन में भी महिलाओं को अग्रणी बताते हुए आईपीएस आरती डोगरा, चन्द्रकला टीना डाबी आदि के उदाहरण प्रस्तुत किए। इसके साथ ही छात्राओं व महिलाओं की विभिन्न क्षेत्रों में भूमिका के बारे में बताया। कार्यक्रम में स्नेहा शर्मा, मंजू चौधरी, शुभ्रा भोजक, नीलम शर्मा, सुनीता चौधरी, स्मृति कुमारी, ममता गोरा, सीता कंवर, निशा जाट, कोमल मुंडेल, सरिता मंडा आदि छात्राओं ने भी अपने विचार प्रकट करते हुए महिलाओं के समाज में महत्व एवं महिला व पुरूष को परस्पर सहयोगी की भूमिका रखने की आवश्यकता बताई। प्रारम्भ में एनएसएस के प्रथ इकाई प्रभारी डा. बलवीर सिंह ने महिला दिवस का महत्व बताया तथा अंत में एनएसएस की द्वितीय इकाई प्रभारी डा. प्रगति भटनाकर ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन अभिषेक चारण ने किया। कार्यक्रम में डॉ. विनोद कुमार सैनी, देशना चारण, अभिषेक शर्मा, श्वेता खटेड़, प्रेयस सोनी आदि उपस्थित रहे।

Read 339 times

Latest from