खेलकूद गतिविधियों का आयोजन

खेलों से मांसपेशियों के सुगठन के साथ प्रसन्नता व ताजगी आती है- कुलपति

लाडनूँ, 21 मार्च 2022। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में खेलकूद गतिविधियों का शुभारम्भ करते हुए कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ ने कहा कि शारीरिक गतिविधियों का महत्व शारीरिक विकास के साथ मानसिक, सांवेगिक, नैतिक, चारित्रिक विकास की आधार के रूप में भी है। खेलकूद गतिविधियों से अनुशासन, सक्रियता, ऊर्जा और ताकत का संवर्द्धन होता है। इनसे शरीर व मन के स्वस्थ रहने के साथ मांसपेशियों को सुगठित और मजबूत बनाने तथा चित्त में ताजगी और प्रसन्नता लाने में भी सक्षमता मिलती है। उन्होंने स्वयं बेडमिंटन खेल कर खेलों का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर प्रो. नलिन के. शास्त्री ने कहा कि खेलों से शरीरिक स्वास्थ्य के साथ बुद्धिमता का विकास भी संभव होता है। विद्यार्थी जीवन में खेल महत्वपूर्ण होते हैं। इस अवसर पर बेडमिण्टन, टेनिस, लम्बी दौड़, ऊंची दौड़, 100 मीटर दौड़ आदि का आयोजन किया गया। इस अवसर पर प्रो. बीएल जैन, डॉ. रविन्द्र सिंह राठौड़, डॉ. युवराज सिंह खंगारोत, डॉ. प्रद्युम्नसिंह शेखावत, डॉ. बलवीर सिंह, डॉ. बी. प्रधान, डॉ. सरोज राय, डॉ. अमिता जैन, डॉ. आभा सिंह, डॉ. विनोद कस्वां, श्वेता खटेड़, डॉ. प्रगति भटनागर, डॉ. सुनीता इंदौरिया, अजयपाल सिंह, भाटी, आदि उपस्थित रहे।

Read 321 times

Latest from