राष्ट्रीय युवा संसद का आयोजन

लाडनूँ, 16 मार्च 2022।जैन विश्वभारती संस्थान के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्रार्थना कक्षा में बुधवार को राष्ट्रीय युवा संसद का आयोजन रखा गया, जिसमें छात्राओं ने भूमिका अदा की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ तथा विशिष्ट अतिथि शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. बी.एल. जैन थे। मुख्य अतिथि प्रो. दूगड़ ने कार्यक्रम में बताया कि भारतीय संसद के अधिवेशन लोकतंत्र की नींव माने जाते हैं। अधिवेशन पारस्परिक चर्चा और विचार-विमर्श का मंच होने के कारण सत्तापक्ष तथा प्रतिपक्ष दोनों राष्ट्रहित, लोकहित एवं राष्ट्रीय विकास जैसे मुद्दों पर चर्चा होती रहती है। उन्होंने छात्राओं द्वारा आयोजित कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि युवाओं में नेतृत्व क्षमता तथा आत्म विश्वास में वृद्धि करने के लिए ऐसे कार्यक्रम समय-समय पर होने चाहिए। विशिष्ट अतिथि प्रो. जैन ने ऐसे कार्यक्रमों को लाभदायक मानते हुए छात्राओं के उत्साह की सराहना की। कार्यक्रम में प्रथम समीक्षक के रूप में डॉ. रविन्द्र सिंह राठौड़ ने अपनी समीक्षा में इसे एक अच्छा कदम और इसे राजनीतिक समाजीकरण की दिशा में महत्वपूर्ण आयाम बताया। द्वितीय समीक्षक डॉ. लिपि जैन ने छात्राओं के बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर कुछ श्रेष्ठ छात्राओं का चयन कर उन्हें संस्थान का प्रतीक चिन्ह् देकर सम्मानित किया। आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने प्रारम्भ में अपने स्वागत वक्तव्य में युवाओं में राजनीतिक नेतृत्व विकसित करने के लिए इस कार्यक्रम के समय-समय पर आयोजन की आवश्यकता बताते हुए इसे एक बौद्धिक प्रयास बताया। इससे पूर्व आयोजक समिति के सदस्य डॉ. बलबीर सिंह ने भारतीय संसद के एक आदर्श प्रतिरूप के रूप में आयोजित इस अधिवेशन के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान की। अतिथियों का स्वागत अभिषेक शर्मा, प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी, अभिषेक चारण, डॉ. बलबीर सिंह, प्रेयस सोनी व डॉ. प्रगति भटनागर ने किया। कार्यक्रम का संयोजन श्वेता खटेड़ ने किया तथा अंत में प्रगति चौरड़िया ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में आयोजन समिति के सदस्य अभिषेक शर्मा, प्रगति चौरड़िया, डा. बलवीर सिंह, श्वेता खटेड़ तथा संकाय सदस्य डॉ. मनीष भटनागर, डॉ. अमिता जैन, डॉ. सरोज राय, डॉ. आभासिंह डॉ. विष्णु कुमार, डॉ. गिरधारी लाल शर्मा, रजत सुराना, प्रमोद ओला, कुशाल जांगिड़, घासीलाल शर्मा आदि उपस्थित रहे।

Read 485 times

Latest from