कुलपति का चैन्नई में तेरापंथ समाज ने किया सम्मान

साधु-साध्वियों को उच्च-शिक्षा प्रदान करने में जैन विश्वभारती संस्थान अद्वितीय- प्रो. दूगड़

लाडनूँ, 7 अप्रेल 2022। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ को चैन्नई में जैन श्वेताम्बर तेरापंथ समाज की ओर से सम्मान किया गया। वे वहां विश्वविद्यालय की पूर्व में कुलपति रह चुकी साध्वी डॉ. मंगलप्रज्ञा ठाणा 6 के सेवा व दर्शनार्थ आए थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा है कि जैन विद्या में पूर्ण पारंगत होने के साथ प्रशासनिक क्षमता में भी मंगलप्रज्ञा जी सिद्धहस्त थी। साध्वी डॉ. मंगलप्रज्ञा ने जैन परिवारों के बीच जैविभा विश्वविद्यालय और इसके कार्यक्रमों और गतिविधियों की शुरुआत की। उन्होंने इस विश्वविद्यालय की अद्वितीयता के बारे में बताया और समण संकाय द्वारा अध्यापन और सभी धर्म-सम्प्रदायों के साधु-साध्वियों को उच्च शिक्षा प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय के प्रारम्भ से लेकर निरन्तर विकास की यात्रा के बारे में भी जानकारी दी और शीघ्र प्रारम्भ किए जा रहे आचार्य महाप्रज्ञ मेडिकल कॉलेज एंड होस्पिटल ऑफ योग एंड नेचुरोपैथी के बारे में बताया। इस अवसर पर चैन्नई के जैन परिवार वहां एकत्र थे। सबने मिलकर प्रो. दूगड़ का उत्तरीय पहनाकर व स्मृति चिह्न आदि प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर धर्मचंद लंूकड़, अमरचंद लूंकड़, प्यारेलाल पीतलिया, संतोष कटरैला आदि सभी उपस्थित रहे।

Read 323 times

Latest from