भारत में विकासशील से विकसित राष्ट्र बनने की अपार संभावनाएं- प्रो. त्रिपाठी

लाडनूँ, 30 सितम्बर 2022। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्देशानुसार जैन विश्वभारती संस्थान विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ के मार्गदर्शन में आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रमों की श्रृंखला में भारत सरकार द्वारा पंच-प्राण थीम को आधार मानकर निर्धारित किए गए लक्ष्यों के संदर्भ में आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में व्याख्यान का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो. आन्नदप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि वर्तमान में भारत खाद्यान्न, सैनिक क्षमता एवं विदेश नीति के मामलों में आत्मनिर्भर एवं प्रभावशाली भूमिका रखता है। यह स्थिति भारत को विकसित राष्ट्र बनाने में महत्वपूर्ण आयाम सिद्ध हो सकती है। उन्होंने छात्राओं को प्रेरित किया कि राष्ट्र के प्रति निर्धारित अपने दायित्वों का पालन आवश्यक रूप से करें और अपनी सांस्कृतिक व ऐतिहासिक धरोहर पर गर्व की अनुभूति करनी चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता व आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. एपी त्रिपाठी ने की। कार्यक्रम का संयोजन डॉ. बलबीर सिंह ने किया और अंत में सह-संयोजक अभिषेक शर्मा ने आभार ज्ञापित किया।

Read 275 times

Latest from