कॅरियर काउंसलिंग एवं चरित्र निर्माण पर व्याख्यान आयोजित

राजकीय कन्दोई बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, सुजानगढ़ में कॅरियर काउंसलिंग एवं चरित्र निर्माण पर एक विशेष सत्र आयोजित

सुजानगढ़, 5 मई 2018। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के दूरस्थ शिक्षा विभाग की सहायक निदेशिका नुपुर जैन ने छात्राओं को उच्च शिक्षा हेतु प्रेरित करते हुये कहा कि उज्ज्वल भविष्य के लिये उच्च शिक्षा के साथ व्यक्ति का सच्चरित्र होना आवश्यक है और इन दोनों के लिए अच्छे संस्थान से शिक्षा ग्रहण करनी आवश्यक है। उन्होंने यहां राजकीय कन्दोई बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, सुजानगढ़ में शनिवार को आयोजित कॅरियर काउंसलिंग एवं चरित्र निर्माण पर एक विशेष सत्र में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि इन दोनों ही साध्यों को प्राप्त करने के लिए जैन विश्वभारती संस्थान से बेहतर कोई विकल्प नहीं हो सकता क्योंकि वहां उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा के साथ-साथ साध्वीयों के सान्निध्य में उच्च नैतिक चरित्र का निर्माण भी किया जाता है। इस अवसर पर संस्थान के हिन्दी व्याख्याता अभिषेक चारण ने आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में समाहित विशेषताओं से परिचय करवाते हुए छात्राओं को बताया कि आधुनिक शिक्षा शैली को अपने में आत्मसात किये हुए यह महाविद्यालय सभी कक्षा में स्मार्ट बोर्ड उपलब्ध करवाता है ताकि छात्राएं शिक्षा के इन आधुनिक उपकरणों का अधिकतम उपयोग कर सके। संस्थान की इतिहास व्याख्याता सुश्री रत्ना चौधरी ने महाविद्यालय की विशेष गतिविधियों से छात्राओं को अवगत करवाया जो संस्थान को अन्य महाविद्यालयों से श्रेष्ठ साबित कराता है। संस्थान की मुमुक्षों बहिनों क्रमशः श्वेता और प्रेक्षा द्वारा विद्यालय की छात्राओं के साथ जैन विश्वभारती संस्थान से जुड़े अपने अनुभवों को साझा किया। इस अवसर पर अंग्रेजी विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. गोविन्द सारस्वत द्वारा छात्राओं से फीडबेक फाॅर्म भरवाये गये एवं छात्राओं को विश्वविद्यालय में प्रवेश हेतु प्रेरित किया गया। कार्यक्रम के अन्त में घोषणा की कि सत्र 2018-19 में सुजानगढ़ की छात्राओं के लिए निःशुल्क वाहन सुविधा की जायेगी, ताकि बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन मिल सके। इस अवसर पर संस्थान परिवार की ओर से कन्दोई बालिका विद्यालय की प्राचार्य सरोज पूनिया एवं व्याख्याता लक्ष्मण खत्री को संस्थान का प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय शिक्षिका मंजू ढाका द्वारा किया गया। इस अवसर पर समस्त विद्यालय परिवार एवं डाॅ. घनश्यामनाथ कच्छावा सहित शहर के गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Read 598 times

Latest from