जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग एवं जीवन विज्ञान विभाग के तत्वावधान में स्वच्छता अभियान को लेकर व्याख्यान आयोजित

स्वच्छता अभियान के प्रचारक बनें विद्यार्थी- डाॅ. शेखावत

लाडनूँ 8 सितम्बर 2018। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग एवं जीवन विज्ञान विभाग के तत्वावधान में महात्मा गांधी के 150वीं जन्म जयंती वर्ष के उपलक्ष में शनिवार को सेमिनार हाॅल में एक व्याख्यान का आयोजन किया गया। स्वच्छता अभियान पर आधारित इस कार्यक्रम में व्याख्यान देते हुये विभागाध्यक्ष एवं उपकुलसचिव डाॅ. प्रद्युम्न सिंह शेखावत ने कहा कि विद्यार्थियों को स्वच्छता अभियान के प्रचारक की भूमिका निभानी चाहिये। सफाई की शुरूआत हमें खुद से और अपने आस पास के परिसर से ही करनी होगी। अपने मौहल्ले और गांव को स्वच्छ रखने में अगर हम सफल रहे तो निश्चित मानिये कि यह पूरा देश भी स्वच्छ हो जायेगा। उन्होंने कहा कि वे कहीं भी किसी व्यक्ति के कचरा बाहर रास्ते में डालते हुये पाये जाने पर उसे रोक कर उससे कचरा लेकर कचरा पात्र या कचरा-वाहन में डालना चाहिये, ताकि उसे सीख मिले। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देने से बहुत सुधार किया जा सकता है। हमें व्यावहारिक रूप से सफाई के महत्व को लागू करना चाहिये। कचरे का निष्पादन करने में सूखे-ठोस व गीले कचरे को अलग-अलग एवं पैक करके डालने के महत्व को समझाया तथा कहा कि कार्बनिक अपशिष्ट पदार्थों को कभी भी खुले में नहीं डालना चाहिये। डाॅ. शेखावत ने खुले में शौच एवं मूत्रादि करने से होने वाली हानियों को गिनाया तथा हाथ साफ करने, घर में जूते लेकर नहीं जाने, जल-संग्रहण को स्वच्छ बनाने, उसे ढक कर रखने आदि पारम्परिक एवं व्यावहारिक सफाई के महत्व को समझाया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. अशोक भास्कर ने किया।

Read 137 times

Latest from