जैन विश्वभारती (मान्य विश्वविद्यालय) में दूरस्थ शिक्षा के विद्यार्थियों की फेयरवेल पार्टी का आयोजन

आत्मोत्थान के साथ योग बन गया है बेहतर केरियर का जरिया- प्रो. त्रिपाठी

लाडनूँ, 27 अप्रेल 2019। जैन विश्वभारती (मान्य विश्वविद्यालय) के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के योग एवं जीवन विज्ञान विषय के स्नातकोत्तर डिग्री के विद्यार्थियों की सम्पर्क कक्षाओं के दौरान उन्होंने फेयरवेल पार्टी का आयोजन किया, जिसमें विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर सबका मन मोहा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दूरस्थ शिक्षा निदेशक प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने इस अवसर पर कहा कि योग जहां आत्मोद्धार का साधन माना गया है, वहीं आत्मोत्थान के साथ ही योग आज बेहतर केरियर के रूप में भी सामने आया है और इसी कारण विश्वविद्यालय में योग की शिक्षा लेने वाले विद्यार्थियों में एमबीबीएस और इंजीनियरिंग कर चुके विद्यार्थी भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इस विश्वविद्यालय से योग की डिग्री लेने के बाद यहां के छात्र विदेशों में अपने योग प्रशिक्षण केन्द्र संचालित कर रहे हैं। चीन, मलेशिया, जापान, इंग्लेंड आदि देशों में यहां के योग-विद्यार्थी अपनी सेवायें दे रहे हैं। योग की शिक्षा के बाद किसी भी छात्र के समक्ष आजीविका का कोई संकट नहीं आ सकता है। आज विश्व भर में स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है और बहुत सारी बीमारियों से मुक्त होने में आसन, प्राणायाम, ध्यान एवं अन्य योग की क्रियाओं को रोगमुक्ति का प्रमुख माध्यम माना जा चुका है। उन्होंने बताया कि जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय के दूरस्थ शिक्षा विभाग के छह छात्रों ने योगासन एवं अन्य क्रियाओं में विश्व-रिकॉर्ड कायम करके देश का नाम उजागर किया है।

लाडनूँ के विद्यार्थियों ने किया विदेशों में योग का प्रसार

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि जगदीश यायावर ने भी योग को आत्मिक उन्नति के साथ रोजगार का माध्यम भी बताया तथा विभिन्न विद्यार्थियों का विवरण प्रस्तुत करते हुये कहा कि लाडनूँ से प्रशिक्षित योग शिक्षकों ने विदेशों तक में नाम रोशन किया है और योग का प्रसार किया है। कार्यक्रम में दूरस्थ शिक्षा समन्वयक जेपी सिंह व सेक्शन प्रभारी पंकज भटनागर भी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम में छात्रा राजश्री, कोमल, रेणु, ज्योति, सुनिता व भारती ने योगा-नाट्यम के माध्यम से संगीत की धुन पर सामुहिक योगाभ्यास का प्रदर्शन किया। सुनीता भूरिया ने थानैं काजलियो बणाल्यूं गीत पर नृत्य की मनभावन प्रस्तुति दी। सरिता, सिम्पल, रीता, उमा चैधरी, मोनिका शर्मा आदि ने भी नृत्यों की शानदार प्रस्तुति दी। शोभाराम ने भजन, राजीव व सुमन ने गीत तथा सरिता, राजीव, सुशील, मघु, मनु, सुशील शर्मा, मोनु आदि ने पर्चियां निकाल कर उनमें आये विवरण के अनुसार प्रस्तुतियां देकर सबको खूब हंसाया। अंत में सभी विद्यार्थियों ने सामुहिक नृत्य की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन कर्नल गोपाल ने किया।

Read 188 times

Latest from