जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) को मिला तीसरा आईएसओ प्रमाण पत्र

लाडनूँ, 3 सितम्बर 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) को फिर से आई.एस.ओ. का मानक प्रमाण प्रत्र ‘‘आईएसओ 14001: 2015’’ प्राप्त हुआ है। यह प्रमाण पत्र संस्थान को पर्यावरण प्रबंधन तंत्र के क्षेत्र में प्रदान किया गया है। प्रमाण पत्र में बताया गया है कि जैन विश्वभारती संस्थान कला, विज्ञान, वाणिज्य, शिक्षा, सामाजिक विज्ञान, शांति अध्ययन आदि क्षेत्रों में समाज के लिये विभिन्न स्नातक एवं स्नातकोत्तर शैक्षणिक कार्यक्रम प्रदान करके उत्कृष्टता के उच्चतम अंतरराष्ट्रीय मानकों पर शिक्षा, शिक्षण और अनुसंधान के माध्यम से समाज में योगदान दे रहा है, जिसमें ओरियेंटल अध्ययन पर विशेष ध्यान दिया जाता है। यहां के सारे कार्यक्रम नियमित एवं दूरस्थ शिक्षण व्यवस्था के माध्यम से संचालित किये जाते हैं। यह इस संस्थान को तीसरा आईएसओ प्रमाण पत्र मिला है। इससे पूर्व जैविभा विश्वविद्यालय को व्यावसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रबंधन के क्षेत्र में उच्च मानदंडों की अनुपालना के आधार पर हाल ही में गत अगस्त माह में आई.एस.ओ. का सर्टिफिकेशन अवार्ड प्राप्त हुआ था। जैन विश्वभारती संस्थान ने अपनी स्थापना के 30 वर्षों में लगातार गुणवता, प्रबंधन, स्वास्थ्य, सुरक्षा, पर्यावरण आदि विभिन्न क्षेत्रों में विशेष सजगता एवं जागरूकता के साथ उच्च मानकों को स्थापित किया है। संस्थान को यह तीसरा आई.एस.ओ. प्रमाण पत्र मिला है, जिस पर यहां समस्त स्टाफ ने हर्ष जताया है।

Read 262 times

Latest from