जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत सात दिवसीय आईसीटी प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

गुगल फाॅर्म के माध्यम से शिक्षा के विविध पहलु बताये

लाडनूँ, 23 सितम्बर 2020। जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विद्यालय) के शिक्षा विभाग के अन्तर्गत बुधवार को सात दिवसीय आईसीटी प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारम्भ किया गया। कार्यशाला के प्रथम दिवस दीपक माथुर ने गूगल फॉर्म का प्रशिक्षण प्रदान करते हुए बताया कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के समय विद्यार्थियों की परीक्षा कराने, उपस्थिति लेने, आंतरिक तथा बाह्य मूल्यांकन करने, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता कराने आदि में गूगल फार्म काफी उपयोगी रहा हैं। उसकी वर्तमान में भी आवश्यकता बनी हुई है। माथुर ने सभी संभागियों के समक्ष गूगल फॉर्म की भूमिका प्रस्तुत करते हुए उसकी प्रक्रिया से रूबरू करवाया और प्रशिक्षण में बताया कि कैसे गूगल फॉर्म पर जाया जाता है, कैसे नया फॉर्म क्रियेट करते हैं, कैसे नया प्रश्न क्रियेट करते है, क्या-क्या सावधानियां रखी जानी चाहिये आदि। यह सब जानकारी उन्होंने विभाग के सभी संकाय सदस्यों को दिया। अंत में विभागाध्यक्ष प्रो.बी.एल.जैन ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

प्रश्नोतरी में गूगल फार्म के उपयोग पर शिक्षकों को प्रशिक्षण

26 सितम्बर 2020। जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विद्यालय) के शिक्षा विभाग में चल रही सात दिवसीय आईसीटी प्रशिक्षण कार्यशाला के पंचम दिवस शिक्षकों को गूगल फार्म में काम करने की तकनीक और विधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। विषय विशेषज्ञ दीपक माथुर ने इस सम्बंध में बोलते हुये गूगल फॉर्म के अंतर्गत प्रश्नोतरी तैयार करने, उसकी जांच करने, मूल्यांकन करने आदि के सभी पहलुओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने प्रश्नोतरी तैयार करने के लिये सैटिग, जर्नल, प्रजेंटेशन तथा क्विज बारे में जानकारी प्रदान की। साथ ही प्रश्नोतरी होने के बाद कैसे उत्तर तथा अंको को सेट किया जाता है, छात्रों के प्रत्युत्तर को एक्सल में ले जाकर कैसे उस प्रश्नोतरी से परिणाम तैयार किया जाता है आदि का प्रशिक्षण विभाग के सभी संकाय सदस्यों को दिया। अंत में विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने कहा कि यह जानकारी बहुत ही उपयोगी है। वर्तमान समय में इस प्रकार की ऑनलाइन तकनीक की जानकारी सभी शिक्षकों को होना अनिवार्य हो गया है। उन्होंने धन्यवाद ज्ञापित भी किया।

आईसीटी प्रशिक्षण कार्यशाला के छठे दिवस समझाई मूल्यांकन प्रक्रिया

28.सितम्बर 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग में चल रही सात दिवसीय आईसीटी कार्यशाला के छठे दिवस दूर बैठी हुई छात्राओं की शैक्षिक गतिविधियों का सुचारू रूप से संचालन करने के लिये अेक्नोलोजी के इस्तेमाल के बारे में विशेषज्ञ दीपक माथुर ने सभी संभागियों को समझाया। साथ ही उन्होंने प्रश्नोतरी प्रतियोगिता व सामान्य ज्ञान के माध्यम से छात्राओं के अध्ययन का साप्ताहिक, मासिक व अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन करने के बारे में जानकारी भी दी। छात्राओं से उनकी शैक्षिक गतिविधियों से सम्बंधित सूचनाओं के आधार पर उनकी विभिन रिपोर्ट्स के प्रवेश, परीक्षा व सम्बंधित विषय-अध्यापक के लिए उपयोगी बनने के तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। ऑनलाइन क्लासों में छात्राओं से उनकी उपस्थिति को गूगल फॉर्म के माध्यम से प्रत्येक दिन लेना व उसकी मासिक रिपोर्ट तैयार करने की भी जानकारी दी। अंत में विभागाध्यक्ष प्रो. बी. एल. जैन ने आभार ज्ञापित किया।

Read 223 times

Latest from