जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) की कुलाधिपति के देश की सबसे अमीर महिलाओं के शुमार होने पर हर्ष

लाडनूँ, 8 अक्टूबर 2020। फोब्र्स इंडिया द्वारा करवाये गये सर्वेक्षण में जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) की कुलाधिपति सावित्री जिन्दल भारत की सबसे अमीर महिलाओं में शुमार हुई है। व्यावसायिक क्षेत्र में कामयाबी हासिल करने वाली देश की प्रमुख महिला सावित्री जिंदल ‘‘जिंदल ग्रुप’’ की कंपनियों की मालकिन हैं। जिंदल ग्रुप स्टील, पॉवर, सीमेंट और इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में काम कर रहा है। वे दिवंगत उद्यमी ओम प्रकाश जिंदल की पत्नी है, जिनका देहांत 2005 में हेलिकाॅप्टर दुर्घटना में हो गया था। जाने-माने उद्योगपति सज्जन और नवीन जिंदल सावित्री जिन्दल के बेटे हैं। 70 साल की सावित्री जिंदल ने राजनीति में भी हाथ आजमाया और वे हरियाणा सरकार में विधायक और मंत्री रह चुकी हैं। हाल ही में फोब्र्स ने दुनियाभर के 1,810 अरबपतियों की जो लिस्ट जारी की थी, उसमें पांच भारतीय अरबपति महिलाएं भी शामिल हैं। इस सूची में सावित्री जिंदल का नाम सबसे ऊपर है। सावित्री जिंदल 6.6 बिलियन डॉलर की संपत्ति की मालकिन हैं। इनका जन्म 20 मार्च, 1950 को हरियाणा के तिनसुकिया हिसार में हुआ था। जिंदल ग्रुप की नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन सावित्री जिंदल 2005 में हेलिकॉप्टर दुर्घटना में पति की मौत के बाद से ग्रुप प्रमुख की जिम्मेदारी संभाल रही हैं। ओपी जिंदल हिसार से विधायक भी रहे हैं। 2005 में उनकी मृत्यु के बाद सावित्री जिंदल ने हिसार की राजनीति में कदम रखा और विधायक बनी। फोब्र्स की सूची में देश की अमीर महिलाओं के शुमार होने पर यहां जैन विश्व भारती संस्थान में हर्ष जताया गया।

Read 28 times

Latest from