जैन विश्व भारती संस्थान में संकाय संवर्धन कार्यक्रम के अन्तर्गत ‘सतत विकास एवं शिक्षा’ विषय पर पत्र-वाचन

पर्यावरण संरक्षण शिक्षा के हर स्तर पर अनिवार्य हो- डाॅ. आभा

लाडनू 11 नवम्बर 2020। जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग में संकाय संवर्धन कार्यक्रम के अन्तर्गत ‘सतत विकास एवं शिक्षा’ विषय पर डाॅ. आभा सिंह द्वारा पत्र-वाचन किया गया। अपने पत्र वाचन में डाॅ. आभा सिंह ने मनुष्य द्वारा अपने विकास की कीमत प्रकृति को नष्ट कर के चुकाए जाने पर विस्तार से प्रकाश डाला और बताया कि मनुष्य अपनी अप्राकृतिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये प्रकृति का अनावश्यक दोहन करता है और प्राकृतिक ससाधनों को समाप्त करने एवं उन्हें विकृत बनाने का जितना भी प्रयास करता है, उन सबका दुष्परिणाम आने वाली पीढ़ियों को भुगतना पड़ेगा। इसी कारण यह जरूरी है कि समय रहते हम सब संभलें और शिक्षा के प्रत्येक स्तर पर पर्यावरण शिक्षा को अनिवार्य रूप से जोड़ कर आने वाली पीढियों को सतर्क करें और पर्यावरण की रक्षा के लिये उन्हें तैयार करें। पत्र वाचन के विषय पर संकाय सदस्यों द्वारा विस्तार से चर्चा की गई। अंत में विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Read 113 times

Latest from