जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में आत्मरक्षार्थ मार्शल आर्ट के गुर सिखाने के लिए सात दिवसीय कार्यक्रम शुरू

छात्राओं में अभय रहने के आत्मबल का विकास जरूरी- प्रो. त्रिपाठी

लाडनूँ, 29 दिसम्बर 2021। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाने के लिए सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का शुभारम्भ बुधवार को किया गया। प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने इस अवसर पर बताया कि छात्राएं अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक बनें और उनमें अभय रहने के आत्मबल का विकास इस प्रशिक्षण के माध्यम से हो पाएगा। उन्होंने कहा कि अकेली छात्रा कहीं भी किसी भी विपरीत परिस्थिति में बदमाशों का मुकाबला करने और उन्हें सफलता पूर्वक पछाड़ने में सक्षम बन पाएगी। छात्राओं का मनोबल बढने और उनमें आत्मरक्षा की मनोस्थिति का निर्माण होने से वे कहीं भी पीछे नहीं हटेंगी और वे प्रत्येक प्रतिस्पर्धा के लिए बेखौफ होकर आगे बढ सकेंगी। छात्राएं यहां एनसीसी प्रभारी लेफ्टिनेंट आयुषी शर्मा की देखरेख में यह प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। मार्शल आर्ट प्रशिक्षक सलोनी शर्मा ने बुधवार को छात्राओं को किक, पंच व ब्लाॅक के विविध प्रकारों का अभ्यास करवाया। उन्होंने माहगेरी, मवासीगेटी, स्लेब किक, मिडिल पंच, अपर पंच व लाॅअर पंच की विधियां बताई और उनकी प्रेक्टिश करवाई।

Read 127 times

Latest from