राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शैक्षणिक संस्था आयेाग के अध्यक्ष ने किया जैन विश्वभारती संस्थान का अवलोकन

ग्राम्यांचल में उत्कृष्ट विश्वविद्यालय का सफल संचालन सराहनीय

लाडनूँ, 25 फरवरी 2022। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शैक्षणिक संस्था आयोग के अध्यक्ष जस्टिस नरेन्द्र कुमार जैन ने यहां जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) का अवलोकन करके विश्वविद्यालय की सराहना की है। उन्होंने यहां की शिक्षा व्यवस्था और अनुशासन को श्रेष्ठ बताया तथा कहा कि जैन आचार्यों के अनुशासन में यहां का संचालन बेहतरीन ढंग से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सुदूर ग्रामीण अंचल में विश्वविद्यालय के संचालन का कार्य दुरूह होता है, इसके बावजूद इस बात की खुशी है कि यहां इतनी सुन्दर व्यवस्थाओं के साथ शानदान विश्वविद्यालय संचालित किया जा रहा है। उन्होंने यहां विजीटर्स बुक में अपने कमेंट्स में लिखा- मुझे जेवीबीआई में आकर बेहद खुशी हुई है। मैं कामना करता हूं कि बीस तीर्थंकर और सभी जैन संत इस विश्वविद्यालय और शैक्षणिक संस्थान के संस्थापकों के लक्ष्यों की पूर्ति के लिए संचालकों मन-मस्तिष्क में शक्ति प्रदान करेंगे। उन्होंने यहां आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय, वर्द्धमान ग्रंथागार केन्द्रीय पुस्तकालय, आर्ट गैलरी, डिजीटल स्टुडिया, कम्प्यूटर लैब एवं लैंग्वेज लैब, विभिन्न विभाग और उनकी प्रयोगशालाएं, जिम आदि के साथ आचार्य महाप्रज्ञ मेडिकल कालेज आफ नेचुरोपैथी एंड योग का मुआयना किया और उनकी खुलकर सराहना की। इससे पूर्व कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ ने उनका प्रतीक चिह्न, साहित्य, पट्ट आदि प्रदान करके सम्मान किया। कुलपति ने विश्वविद्यालय की व्यवस्थाओं, यहां के मनोरम व आध्यात्मिक वातावरण, भौगोलिक स्थिति, अनुशासन, विभिन्न विभागों, पाठ्यक्रमों आदि की जानकारी प्रदान की। उनके अवलोकन के दौरान उनके साथ कुलपति प्रो. दगड़ के अलावा प्रो. नलिन के. शास्त्री, प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी वगैरह भी रहे।

Read 431 times

Latest from