अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

भारतीय संस्कृति में महिलाएं सदैव वंदनीय रहीं- प्रो. त्रिपाठी

लाडनूँ, 7 मार्च 2024। जैन विश्वभारती संस्थान के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य प्रो. आनंदप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि भारतीय संस्कृति में महिलाएं सदैव वंदनीय रही हैं। ‘यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता’ सूक्ति इसकी प्रतीक है। यहां सीताराम, गौरीशंकर, राधाकृष्ण आदि शब्दों में महिला को प्रथम महतव दिया गया है। उन्होंने माता कौशल्या, यशोदा मैय्या से लेकर गार्गी, मैत्रेयी, अनुसूया, विद्यावती, महारानी लक्ष्मीबाई, महादेवी वर्मा, सुभद्रा कुमारी चैहान, मैत्री पुष्पा, मेहरुन्निसा परवेज, ममता कालिया, मृणाल पांडे, बछेंद्री पाल, लता मंगेशकर, प्रतिभा देवी सिंह पाटिल, सुषमा स्वराज, सरोजिनी नायडू, सुचेता कृपलानी, द्रोपति मुर्मू आदि के रूप में भारतीय संस्कृति की सच्ची संवाहक महिलाओं को बताया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्वेता खटेड एवं विशिष्ट अतिथि देशना चारण थी। कार्यक्रम में ललिता जांगिड़, प्रकृति चैधरी, प्रियंका, सुनीता काजला, अभिलाषा स्वामी आदि छात्राओं ने भी महिला दिवस पर अपने विचार रखे। इस अवसर पर मधुकर दाधीच, अनूप कुमार आदि संकाय सदस्य एवं छात्राएं उपस्थित रहीं। कार्यक्रम का संचालन अभिषेक चारण ने किया। अंत में श्वेता खटेड़ ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Read 372 times

Latest from