लाडनूँ में खुलेगा प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग का मेडिकल काॅलेज

अनुशास्ता आचार्यश्री महाश्रमणजी ने दी विश्वविद्यालय को हरी झण्डी

लाडनूँ, 8 अगस्त, 2017। जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय में निकट भविष्य में प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग आधारित शिक्षा का मेडिकल काॅलेज खोला जायेगा। इस पर विश्वविद्यालय के अनुशास्ता आचार्य महाश्रमण ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। उन्होंने अपने कोलकाता के राजारहाट महाश्रमण विहार में चातुर्मास प्रवास के दौरान जैन विश्वभारती संस्थान मान्य विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ द्वारा भंेट करने पर अपनी सहमति प्रदान की। गौरतलब है कि भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के अन्तर्गत केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद् ने भी संस्थान को मेडिकल काॅलेज खोलने के लिये आंमत्रण दिया है। कुलपति प्रो. दूगड़ ने आचार्य महाश्रमण को अपनी भेंट के दौरान विश्वविद्यालय की करीब छः माह की अवधि के दौरान किये गये विकास कार्यों एवं गतिविधियों व कार्य-योजनाओं से अवगत करवाया तथा प्रगति की रिपोर्ट प्रस्तुत की। इसके साथ ही उन्होंनं लाडनूँ में विश्वविद्यालय के अन्तर्गत प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग संबंधी उच्च शिक्षा के लिये मेडिकल काॅलेज खोले जाने की योजना की रूपरेखा प्रस्तुत की। इसके अलावा अनुशास्ता से चर्चा के दौरान तय किया गया कि जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय के तत्त्वावधान में आगामी 14 व 15 सितम्बर को कोलकाता में आचार्यश्री महाश्रमणजी के सान्निध्य में जैन विद्या पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जावे। इसके अलावा विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह के आयोजन पर तय किया गया कि आगामी 13 अक्टूबर को कोलकाता में आचार्यश्री के सान्निध्य में 10वां दीक्षान्त समारोह आयेाजित किया जायेगा। इसके अलवा अनुशास्ता से विश्वविद्यालय में संसाधनों के विकास के संबंध में भी विचार-विमर्श किया गया। आचार्यश्री ने विश्वविद्यालय की प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुये निरन्तर प्रगति करते रहने का आशीर्वचन दिया तथा कहा कि विश्वविद्यालय जैन विद्या, प्राकृत भाषा एवं प्राच्य विद्या के क्षेत्र में पूरा ध्यान दे। उन्होंने कहा कि ये इस संस्थान के मूल विषय हैं।

Read 435 times

Latest from