जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग प्रदर्शन को यूजीसी ने लिया अपनी वेबसाईट पर

जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग प्रदर्शन को यूजीसी ने लिया अपनी वेबसाईट पर

लाडनूँ, 31 मई 2018। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अपनी वेब साईट के होम पेज पर जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग एवं जीवन विज्ञान विभाग के विद्यार्थियों द्वारा करवाये गये योगाभ्यास को महत्व दिया है। यूजीसी ने अपनी वेब साईट डब्लूडब्लूडब्लू डाॅट यूजीसी डाॅट एसी डाॅट इन(www.ugc.ac.in) के होमपेज पर दी गई स्लाइड में इस संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योगाभ्यास के योग-प्रदर्शन का फोटो अपलोड किया है। यह इस संस्थान के लिये गौरव समझा जा रहा है कि यूजीसी ने इसे इतना महत्व प्रदान किया है। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में शिक्षित-प्रशिक्षित विद्यार्थी देश-विदेश में योग और धर्म व दर्शन का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं तथा विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में उच्च पदों पर योग-शिक्षा प्रदान कर रहे हैं, जिनमें पुलिस व सेना भी शामिल है। गौरतलब है कि जैन विश्वभारती संस्थान देश की संस्कृति, प्राच्य विद्याओं, धर्म व दर्शन, प्राच्य भाषा, योग व जीवन विज्ञान, अहिंसा एवं शाति आदि के अध्ययन व शोध लिये समर्पित मिशन के रूप में संचालित किया जा रहा है। राजस्थान पुलिस के पूर्व महानिदेशक डाॅ. मनोज भट्ट ने भी योग को अपना विषय चुनते हुये यहां से अपनी शोध सम्पन्न करके पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है।

Read 116 times

Latest from