जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग में प्रतिभा खोज एवं शिक्षक दिवस समारोह का आयोजन

आगे बढने के लिये केवल सकारात्मकता ही काम आयेगी- कक्कड़

लाडनूँ,5 सितम्बर 2018। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के शिक्षा विभाग में प्रतिभा खोज एवं शिक्षक दिवस समारोह का आयोजन महाप्रज्ञ-महाश्रमण आॅडिटोरियम में किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि कुलसचिव विनोद कुमार कक्कड़ ने छात्राध्यापिकाओं को वर्तमान के नकारात्मकता भरे माहौल में रह कर भी अपनी सकारात्मकता को बनाये रखने की चुनौती है। हर व्यक्ति में माइनस पाॅइंट व पाॅजिटीव पाॅइंट दोनों होते हैं। ऐसा कोई नहीं होता, जिसमें केवल माइनस या केवल पाॅजिटीव पाॅइंट ही हो। हमें किसी भी इंसान के माइनस पाॅइंट को नहीं देखना है, बल्कि हमें सदैव पाॅजिटीव पाॅइंट को ही ध्यान में रखना चाहिये। आगे बढने के लिये हमेशा सकारात्मकता ही काम आती है। उन्होंने तीन सूत्र दिये- टीम वर्क, जीवन का नजरिया और नेटवर्किंग। उन्होंने बताया कि लोगों के साथ मिलकर काम करने की क्षमता होनी चाहिये। टीम वर्क से ही काम में सफलता आसान हो सकती है। अपनी जिन्दगी को आप किस दृष्टि से देखते हैं, यह भी सफलता के लिये आवश्यक है। इसके साथ ही अपना खुद का सर्कल बनायेंगे तो वह जिन्दगी में बहुत मदद करेगा। ये बातें छोटी-छोटी सीढियां हैं, जो आपको लक्ष्य तक ले जायेगी।

सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

कार्यक्रम का शुभारम्भ आकांक्षा द्वारा नृत्य के साथ गणेश-स्तुति से किया गया। प्रारम्भ में अतिथियों एवं शिक्षकों ने सरस्वती के चित्र को माल्यार्पण किया गया। इस समारोह में पूनम ने घूमर नृत्य, रितिका, प्रियंका राठौड़, दुर्गा राठौड़ आदि ने राजस्थानी लोक गीतों एवं अन्य गीतों पर मोहक नृत्य की प्रस्तुतियां दी। प्रियंका एवं समूह आदि ने सामुहिक नृत्य प्रस्तुत किया।पूजा कुमारी व सरोज ने गीत व कवितायें प्रस्तुत की। कार्यक्रम में विभाग के शिक्षकों पर आधारित फिल्मी गीतों को जोड़ कर बनाई गई पीपीटी का प्रदर्शन करके सबका मनोरंजन किया गया। कार्यक्रम में विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने कहा कि शिक्षक अपने ज्ञान, कौशल और अनुभव को विद्यार्थी को देता है, लेकिन इसके साथ ही यह ध्यान भी रखता है कि वह विद्यार्थियों की कमजोरियों को दूर करे और उन्हें अपनी क्षमताओं को उभार कर बाहर निकालने में सहायता करे। कार्यक्रम के अंत में डाॅ. गिरीराज भोजक ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में डाॅ. अमिता जैन, डाॅ. आभासिंह, डाॅ. सरोज राय, डाॅ. विष्णु कुमार, मुकुल, डाॅ. भाबाग्रही प्रधान आदि ने सहयोग प्रदान किया।

Read 151 times

Latest from