जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य) विश्वविद्यालय में नववर्ष पर कार्यक्रम का आयोजन

जीवन की सफलता के लिये जरूरी है प्रेरणा, आनन्द व पुरूषार्थ - मुनि जयकुमार

लाडनूँ, 1 जनवरी 2019। मुनिश्री जयकुमार ने कहा है कि नव वर्ष केवल मनाने का नहीं बल्कि यह आत्मचिंतन करने का समय होता है। अपनी क्षमताओं के अनुरूप कितना कार्य किया गया, इस पर चिंतन आवश्यक है। व्यक्ति की पहचान व्यक्त्वि से ही नहीं बल्कि उसके कर्तृत्व से होती है। हमारी आयु का एक वर्ष कम हुआ है, इसमें हमने क्या किया, क्या करना था और हमारी क्षमताओं के अनुरूप क्या कर सकते थे और वह नहीं कर पाये। यह आत्मचिंतन का विषय होना चाहिये। चिंतन का यह बिन्दु भी सामने रखें कि हमने गर्व करने लायक क्या काम किया है। हम भविष्य के लिये प्रेरणा लें कि अच्छे कार्य कर पायें। वे यहां जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में नव वर्ष पर आयोजित किये गये कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने जोर देकर कहा कि हमें अतीत से प्रेरणा लनी चाहिये, वर्तमान को आनन्द पूर्वक जियें और भविष्य की कल्पनाओं को साकार करने के लिये पुरूषार्थ करें। प्रेरणा, आनन्द व पुरूषार्थ ये तीनों सूत्र केवल एक वर्ष नहीं बल्कि पूरे जीवन को सफल व आनन्दमय बना देंगे। मुनिश्री ने इस अवसर पर सबके लिये मंगलकामना की।

सबक लेने व चुनौतियों के लिये तैयार होने का समय

संस्थान के कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में बीते वर्ष को सबक देने वाला और नूतन वर्ष को चुनौतियों के रूप में मानते हुये कहा कि हमें हर चुनौती को पूरा करना है। उन्होने नये वर्ष के आगमन पर इस पर विचार करने की जरूरत बताई कि हमने गत वर्ष में क्या किया, हमारे लिये क्या करणीय है और कौनसे कार्य अवशेष रहे जिन्हें पूरा करना है। प्रो. दूगड़ ने नई तकनीक के प्रयोग एवं कार्यों को नियत समय में पूरा करने की आवश्यकता बताई तथा कहा कि संस्थान को नई उंचाई तक पहुंचाने के लिये यह आवश्यक है; साथ ही उन्होंने आचार्यों की कृपा, मुनियों के सान्निध्य और मेलजोल बढाने का महत्व भी बताया और कहा कि इससे सकारात्मकता एवं उर्जा बढती है। मुनिश्री जयकुमार के मंगलपाठ के साथ कार्यक्रम सम्पन्न किया गया। दूरस्थ शिक्षा निदेशक प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम में प्रो. दामोदर शास्त्री, प्रो. अनिल धर, प्रो. बीएल जैन, प्रो. रेखा तिवाड़ी, डाॅ. प्रद्युम्न सिंह शेखावत, डाॅ. जुगलकिशोर दाधीच, डाॅ. युवराज सिंह खंगारोत, डाॅ. अमिता जैन, डाॅ. पुष्पा मिश्रा, डाॅ. सरोज राय, डाॅ. बिजेन्द्र प्रधान, डाॅ. रविन्द्र सिंह राठौड़, डाॅ. योगेश जैन, आरके जैन आदि उपस्थित थे।

शिक्षा विभाग में भी मनाया नववर्ष

संस्थान के शिक्षा विभाग में भी नव वर्ष पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में डाॅ. अमिता जैन, डाॅ. मनीष भटनागर, डाॅ. सरोज राय, देवीलाल, डाॅ. गिरधारीलाल, दिव्या राठौड़ आदि ने अपने विचार व्यक्त किये और सभी ने परस्पर नये साल की बधाइयां दी।

Read 257 times

Latest from