जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) केे प्रभारियों ने एक दिवसीय आँनलाइन अभिमुखीकरण कार्यक्रम में लिया हिस्सा

राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक लोगों से आदतों में बदलाव लाने, भ्रांतियां दूर करने, अभावग्रस्तों पर ध्यान देने पर जोर दें

लाडनूँ, 30 अप्रेल 2020। प्रदेश के विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के राष्ट्रीय सेवा योजना समन्वयक एवं राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारियों के साथ राष्ट्रीय सेवा योजना की एक दिवसीय जूम एप्प के माध्यम से ऑनलाइन अभिमुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, कॉलेज शिक्षा आयुक्त सुरुचि शर्मा, राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रीय निदेशक एसपी भटनागर, राष्ट्रीय सेवा योजना के राज्य संपर्क अधिकारी डॉ धर्मेंद्र सिंह एवं अन्य कई अधिकारी एवं कर्मचारी ऑनलाइन उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में संचालित राष्ट्रीय सेवा योजना की दोनो इकाइयों के प्रभारियों डाॅ. प्रगति भटनागर तथा डाॅ. बलबीर सिंह ने भी भाग लिया। इस कार्यक्रम में वर्तमान समय में वैश्विक समस्या के रूप में उभरी कोरोना जैसी महामारी के बचाव एवं इस हेतु कुछ सार्थक प्रयास समाज तक पहुंचाने के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना की भूमिका एवं सहयोग के बिंदुओं पर काफी विचार विमर्श किया गया। डाॅ. प्रगति भटनागर ने बताया कि इस कार्यक्रम में विभिन्न सत्रों के दौरान कोरोना समस्या के रोकथाम में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों की भूमिका पर चिंतन, इस महामारी के कारण समाज में उभरी अनेक समस्याओं जैसे सामाजिक भेदभाव, लोगों का अभावग्रस्त जीवन, लोगों के मन में विभिन्न भ्रांतियां आदि के निराकरण पर बल दिया गया। इसके अलावा स्वयंसेवक एवं स्वयंसेविकाएं समाज में अपनी भूमिका का निर्वाह कर सकते हैं, वे इसके लिये विभिन्न ऑनलाइन ऐप के माध्यम से स्थानीय स्तर पर सरकारी निकायों से जुड़कर अपना योगदान दे सकते हैं तथा स्वयं अपना, अपने परिवार और समाज का बचाव करने में योगदान दे सकते हैं। स्वयंसेवक एवं स्वयंसेविकाएं इस समय अपने परिवार में उत्पन्न होने वाले भयग्रस्त वातावरण एवं मानसिक तनाव को कम करने में योगदान दे सकते हैं। विभिन्न ऑनलाइन ऐप जैसे व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि से जुड़कर समाज के लोगों को इस हेतु जागरूक बना सकते हैं। आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करने तथा अन्य लोगों को भी इसे डाउनलोड करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। स्वयं मास्क का उपयोग करें और अन्य लोगों को भी इस हेतु प्रेरित करें। डाॅ. बलवीर सिंह ने बताया कि आगामी समय में इस महामारी के बचाव हेतु अपने दैनिक जीवनचर्या में एवं अपनी आदतों में बदलाव करना आवश्यक है, इसका संदेश समाज तक पहुंचाना सभी स्वयंसेवकों व स्वयंसेवकिाओं को अपना दायित्व समझना चाहिये। इस महामारी के बारे में प्रचलित विभिन्न अफवाहों एवं गलत धारणा को रोकने का प्रयास करते हुये विभिन्न कोरोना-योद्धाओं के साथ हो रहे दुव्र्यवहार को रोकने में अपना सकारात्मक योगदान प्रदान करना चाहिये। इस दुव्र्यवहार की रोकथाम के लिये व्हाट्सएप और फेसबुक के माध्यम से समाज के लोगों को भी प्रेरित करें। इस अभिमुखीकरण कार्यक्रम में इन सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा होने के साथ ही इसके संदेश को स्वयंसेविकाओं एवं स्वयंसेवकों के माध्यम से समाज में पहुंचाने पर बल दिया गया।

Read 574 times

Latest from