जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यलय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में महिला सुरक्षा व अधिकारों पर राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित

घरेलु हिंसा से निपटने के लिये सबके सहयोग की आवश्यकता- प्रो. मल्होत्रा

लाडनूँ, 1 जुलाई 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यलय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में कुलपति प्रो. बीआर दूगड़ के निर्देशानुसार एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। ‘‘महिला सुरक्षा एवं अधिकार कोविड-19 की परिस्थिति में’’ विषय पर हुये इस वेबिनार में पंजाब विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग की प्रो. मंजू मल्होत्रा ने कहा कि घरेलु हिंसा से बचाव, महिला सुरक्षा और महिला सम्मान ऐसे विषय हैं, जिन पर अभी बहुत काम किया जाने की आवश्यकता है। यह सबकी सामूहिक जिम्मेदारी है। केाविड-19 समस्या के दौर में इस क्षेत्र में कार्यरत सामाजिक संगठनों को आगे आकर महिलाओं की मनोदशा का विश्लेषण करना चाहिये तथा उनका सकारात्मक मार्गदर्शन भी करना चाहिये। वनस्थली विद्यापीठ विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग एवं महिला अध्ययन केन्द्र की समन्वयक प्रो. मंजू सिंह ने कहा कि महिलाओं में स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं का निवारण करने और उनकी सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता है। इस सम्बंध में उन्होंने विस्तृत चर्चा करते हुये घरेलु व्यवस्थाओं में सुधार की आवश्यकता बताई। नेशनल ओपन विश्वविद्यालय जयपुर के समाज कार्य विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो. बीना द्विवेदी ने वेबिनार में कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान देश के विभिन्न क्षेत्रों से पलायन करके आने वाली मजदूर वर्ग की महिलाओं के समाने विकट समस्यायें उत्पन्न हुई, जिन पर अलग से विचार करने की जरूरत है। उन्होंने उन महिलाओं की समस्याओं के समाधान के मार्ग सुझाये। उन्होंने वेबिनार के सहभागियों के सवालों के जवाब भी दिये। प्रारम्भ में जैविभा विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. बिजेन्द्र प्रधान ने विषयवस्तु पर प्रकाश डाला तथा इक्कीसवीं सदी में पैदा हुई नवीन समस्याओं और महिलाओं के सामने आने वाली जटिलताओं के बारे में बताया। अंत में डाॅ. विकास शर्मा ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. पुष्पा मिश्रा ने किया।

Read 417 times

Latest from