जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में अन्तर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस आयोजित

वृद्धों को महामारी से बचने के लिये जागरूकता अभियान चलायें. रीचा चैधरी

लाडनूँ,3 अक्टूबर 2020। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में अन्तर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस के अवसर पर कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ की प्रेरणा से आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली विश्वविद्यालय के अम्बेडकर काॅलेज की सह आचार्य रीचा चैधरी ने कहा कि वर्तमान कोविड.19 के संकट के समय में वरिष्ठ नागरिकों के प्रति हमारी जिम्मेदारी अधिक बढ गई है। विशेष रूप से जो एकल व्यक्ति हैं, उनके प्रति अधिक ध्यान दिये जाने की जरूरत है, उन्हें सेवा की अधिक आवश्यकता है। वरिष्ठ नागरिकों के लिये अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति बढाने के उपाय ऐसे समय में करने की जरूरत है। यह भी आवश्यक है कि वरिष्ठ नागरिकों के लिये हम मनोवैज्ञानिक सहयोग करें। हमें उनके अनुभवों का सम्मान करना चाहिये। जो सामाजिक संगठन इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं, उन्हें महामारी से बचाने के लिये जागरूकता अभियान चलाना चाहिये। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के प्रो. आरके यादव ने कहा कि हमारे पारम्परिक मूल्यों में वरिष्ठ नागरिकों के सम्मान की बात कही गई है। उन्होंने वरिष्ठ नागरिकों के शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर ध्यान देने की जरूरत बताई और वैश्विक एवं स्थानीय मूल्यों के बारे में बताते हुये कहा कि वैश्विक स्तर पर सोच कर स्थानीय स्तर पर कार्य करना चाहिये। कार्यक्रम के प्रारमभ में समाज कार्य विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. बिजेन्द प्रधान ने अतिथियों का स्वागत एवं विषय प्रवर्तन किया। अंत में डाॅ. विकास शर्मा ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. पुष्पा मिश्रा ने किया। कार्यक्रम में तकनीकी सहयोग मोहन सियोल ने किया।

Read 181 times

Latest from