जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में एनसीसी की गल्र्स बटालियन का पांच दिवसीय शिविर

एनसीसी छात्राओं को राईफल, मानचित्र व संकेतों का दिया प्रशिक्षण

लाडनूँ, 16 फरवरी 2021। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में नेशनल केडिट कोर (एनसीसी) की 3राज गल्र्स बटालियन का पांच दिवसीय शिविर में हवलदार बलजिन्द्र सिंह ने एनसीसी छात्राओं को मानचित्र एवं पारम्परिक संकेतों की पहचान के बारे में जानकारी दी तथा उन्हें ड्रिल के बारे में बताया। इसके साथ ही इस अवसर पर कैडेट्स को पाॅइंट टू टू राईफल एंड फाइव पाॅइंट्स के बारे में विस्तार से समझाया और सम्बंधित ट्रेनिंग प्रदान की गई। प्रारम्भ में प्रथम सत्र में आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने एनसीसी के उद्देश्यों के बारे में बताया और लीडरशिप के गुणों के विकास के बारे में जानकारी दी। सुबेदार मेजर गिरधारी व प्राचार्या साधना ने शिविर में होने वाली गतिविधियों के बारे में बताते हुए अपने विचार रखे। कार्यक्रम में एनसीसी छात्रा श्वेता नेहरा व मनीषा शर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किए। प्रारम्भ में ईशा व निशा ने स्वा्रगत गान प्रस्तुत किया। अंत में प्रभारी आयुषी शर्मा ने आभार ज्ञापित किया। इस अवसर पर बटालियन के हवलदार बलजिन्द्र सिंह के अलावा सोनादेवी सेठिया गल्र्स काॅलेज सुजानगढ की प्राचार्या साधना व एनसीसी प्रभारी मेघना सोनी, प्रियंका सैन, नरेश, आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी व एनसीसी प्रभारी आयुषी शर्मा, डाॅ. प्रगति भटनागर एवं एनसीसी कैडेट्स उपस्थित रहे।

एनसीसी कैडेट्स लक्ष्य को फोकस करके सफलता की ओर बढें- प्रो. त्रिपाठी

23 फरवरी 2021। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में नेशनल केडिट कोर (एनसीसी) की 3राज गल्र्स बटालियन के पांच दिवसीय संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर में आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय एवं सोनादेवी सेठिया गल्र्स काॅलेज सुजानगढ की कैडेट्स छात्राओं ने भाग लेकर सलामी शस्त्र, कैमोफ्लेगिंग, गार्ड माउंटिंग, प्राथमिक उपचार, मैप रीडिंग, आपदा प्रबंधन आदि का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। शिविर में प्रशिक्षण के दौरान सीखे गए सभी कार्यों की आखिर में परीक्षा भी ली गई। शिविर में कुल 53 कैडेट्स छात्राओं ने भाग लिया। समापन समारोह में कैडेट्स दमयंती व्र कृष्णा प्रजापत ने नृत्य प्रस्तुत किया। सविता, मनीषा व सुमन ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। कैडेट्स ने इस अवसर पर अपने शिविर के अनुभवों को भी साझा किया। आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने कार्यक्रम में कहा कि अर्जुन द्वारा केवल मछली की आंख देखकर निशाना लगाने की तरह ही छात्राओं को अपने लक्ष्य को फोकस करके चलना चाहिए और उसी मुताबिक अपने कैरियर का चुनाव करना चाहिए। दृढ प्रतिज्ञा और मजबूत इच्छाशक्ति से ही लक्ष्य प्राप्त करने में सफलता मिल सकती है। एनसीसी प्रभारी आयुषी शर्मा ने बताया कि छात्राओं को पाइंट टू-टू राइफल को खोलना, जोड़ना, लोडिंग, काॅकिंग, होल्डिंग, पायरिंग पाॅजिशन, आम्र्स फोर्स के बैज, रैंक सम्मान आदि का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। सोना देवी सेठिया गल्र्स महाविद्यालय सुजानगढ की एनसीसी प्रभारी मेघना सोनी ने बताया कि शिविर में कैडेट्स को विभिन्न स्थलों की पहचान, ड्रिल, मानचित्रों के प्रकार एवं पारम्परिक संकेतों की पहचान, इन्फेन्टरी बटालियन के संगठन एवं उसके प्रमुख हथियार, बुनियादी संचार प्रक्रिया, आपदा प्रबंधन, पर्सनैलिटी डवलेपमेंट, आम्तरक्षा, फिटनैस, आत्मविश्वास वृद्धि, टीमवर्क आदि पर कक्षाओं का संचालन किया जाकर प्रशिक्षित किया गया। शिविर में कमांडिंग ऑफिसर कर्नल अभिषेक चतुर्वेदी, सुबेदार मेजर गिरधारीसिंह व हवलदार बलजिन्द्र सिंह ने कैडेट्स को विभिन्न प्रशिक्षण प्रदान किया।

Read 45 times

Latest from