जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में नवप्रवेशित विद्यार्थियों में साईबर जागरूकता पैदा करने के लिए एक सेमिनार का आयोजन

विद्यार्थियों को साईबर क्राइम के प्रति जागरूक किया

लाडनूँ, 2 दिसम्बर 2021। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा निर्देशित ‘साईबर जागरूकता दिवस’ के अवसर पर जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में नवप्रवेशित विद्यार्थियों में साईबर जागरूकता पैदा करने के लिए एक सेमिनार का आयोजन किया गया। ‘साईबर अपराध एवं साईबर कानून’ विषय पर आयोजित इस सेमिनार में कार्यक्रम प्रभारी आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने कम्प्यूटर, मोबाईल व इंटरनेट के माध्यम से साईबर क्राईम को अंजाम दिया जाता है। इसमें डेटा हैंकिंग, फिसिंग, अवैध डाउनलोडिंग, वायरस प्रसार एवं अन्य गतिविधियां शामिल है। शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने साईबर क्राइम सम्बंधी कानूनों की जानकारी देते हुए आईटी एक्ट 2000 तथा आईटी (संशोधन) एक्ट 2008 के बारे में विचार व्यक्त किए। उन्होंने बताया कि साईबर कानूनों के प्रयोग से भौतिक दुनिया और वर्चुएल दुनिया की पारस्परिक गतिविधियों से होने वाले अपराधों की रोकथाम सम्भव है। कार्यक्रम के संयोजक डा. गिरधारीलाल शर्मा ने बताया कि इस कार्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों में साईबर अपराधों के प्रति जागरूकता लाने की पहल की जा रही है। उन्होंने बताया कि यूजीसी ने ऐसे कार्यक्रम प्रत्येक माह के प्रथम बुधवार को किए जाने हैं, जो निरन्तर एक वर्ष तक चलाए जाएंगे। अंत में कार्यक्रम के सह-संयोजक डा. बलवीरसिह ने आभार ज्ञापित किया।

Read 222 times

Latest from